Saturday, 18 January 2014

अकविता:बारूद के आदमी

Sudha Raje
Sudha Raje
जब सेना के राज़ रेहङी वाले
भिखारी और
पासरबाई उङा कर ले जाते हैं तब
जवानों की लाशें आती है ।।लेकिन जब
सेना रास्ते बंद करती है तो केवल दो से
दस किलोमीटर मार्ग
घूमना पङता है!!!!!
देश की सेना की जय बोल!!! कि घर है
आपके
पास और बोलने की आजादी ।।
वरना दो दिन ना लगें गुलाम बनने में
सेना अगर
अपनी प्रायवेसी जरूरी समझती है
तो उसको मिलनी चाहिये ये एहतियात
है
तानाशाही नहीं हम कब सीखेगे
सेना को सम्मान देना????
Like · Edit · 9 minutes ago
Sudha Raje
वैकल्पिक रास्ते उपलब्ध कराना कलेक्टर
का काम है और नागरिकों का फर्ज है
कि सेना और एंबुलेंस को पहले निकलने दें ।
Like · Edit · 7 minutes ago
Sudha Raje
आर्मी एरिया मटरगश्ती की जगह
नहीं ।
ये वे लोग है जो जान हथेली पर रखकर
कच्छ कशमीर थार में लङकर आते है चार
पल सुकून से जीने दो ।
पता नहीं किसकी छाती पर कब
तिरंगा लिपट कर रो पङे ।
वहाँ मॉर्निंग वाक ईवनिंग वाक
सिवा देश के वीरों पर डिसटर्ब के कुछ
नहीं ।। शांति से कुछ पल तो रहने दो ।
। ये रात दिन हाङ तोङ मेहनत करने
वाले लोग है । वह धूल चूमने और माथे से
लगाने लायक है जहाँ हिंद की सेना पाँव
रखकर निकल गयी । सेना को देखकर
जो रास्ता देकर सलाम ना करे वह देश
भक्त नहीं आलसी और बोझ है
Like · Edit · 2 minutes ago
Sudha Raje
सेना के रास्ते से हटो । जरूरत पङे
तो बीस किलोमीटर चक्कर लगाओ मगर
सैनिक एरिया में आम आवाजाही बंद
हो सख्ती से
Thursday at 6:47am · Edited
Unlike · Comment · Share ·
Add Photos
· Edit Privacy · Edit · View Edit
History · Delete
You, Ashok Mishra and 29
others like this.
Sudha Raje
सेना अपना इलाका बता रही है तो???
बताने दो न?? क्या वह किसी सैनिक
की निजी प्रॉपर्टी हो जायेगा??
Unlike · 2 · Edit · Thursday at
7:49am
Sudha Raje
हमारे यहाँ टेकनपुर में बीएसएफ है और
मुरार में सेना मगर
ऐसा तमाशा कभी नहीं देखा!!!! शर्म
आनी चाहिये मेरठ वालो को जो जमकर
दंगा करते है जाम लगाते है और सैनिक
मामलों में हसक्षेप
बिना उनकी भूमिका समझे करते है
Unlike · 2 · Edit · Thursday at
7:51am
Sudha Raje
आप लोग नहीं समझ रहे हो मगर हम देख
रहे हैं भाँप रहे है कि पूरी एक लॉबी अब
हिंद की सेना के खिलाफ छोटे बङे बयान
दे दे कर सेना का सम्मान नागरिकों में कम
करना चाहती है और जानबूझकर सैनिक
को डराना अपमानित करना और
जनता का सेना पर भरोसा कम
करना चाहती है
सेना को चर्चा का विषय बनाकर
साबित करना चाहती है कि भारतीय
नागरिकों को सेना पसंद नही भारतीय
सेना डिक्कटेटर है ये सब भारत के गद्दार
लोग है
Unlike · 2 · Edit · Thursday at
7:55am
Sudha Raje
Sudha Rajeसैन्य गोपनीयता और
प्रायवेसी के मद्देनजर वैकल्पिक रास्ते
बनाईये सेना केऊपर तमाम देश के
भितरघातियों की वैसेही टेङी नजर है ।
सैनिक क्षेत्र सेपब्लिक
आवाजाही रूकनी चाहियेSudha Rajeदेश
की सुरक्षा के लिये जो लोग ज़ान देतेहैं
उनकी बात ज़ायज है पाँच दस मील घूमकर
आने में हंगामा???? और सेना बर्फ रेतदलदल
पहाङ तक चढ़कर पबलिकबचाती है!!!!
लोग हर समय शॉर्टकट केचक्कर में
क्यों रहते हैं?? मेरठ मेंविदेशी रेकी करते
हैं पबलिक के बहानEdited · Like · Edit ·
Yesterday at5:27pm
Unlike · 1 · Edit · Thursday at
11:48am
Sudha Raje
हमारा पक्का मानना है कि उसमें भङकने
वाले प्रथम लेयर पर वही लोग हैं
जो दंगा करने में इसलिये नाकाम रहते हैं
कि मेरठ अलीगढ़ मुजफ्फरनगर मुरादाबाद
बिजनौर को तत्काल सेना घेर लेती है और
फ्लैग मार्च से ये देश के
भितरघाती अपना खुल्ला खेल नहीं कर
पाते
Unlike · 1 · Edit · Thursday at
3:20pm
Sudha Raje
आर्मी क्यों एक से कपङे और चेहरे रखती है?
ताकि व्यक्तिगत पहचान ना बने । जज
क्यों नहीं समाज में घुलते
क्योंकि निजी नाते ना बने । कोई
भी जवान सिविलियन से घुलमिल कर कुछ
कह सुन दे तो बङा कांड हो सकता है ।
और जासूस तो कई बार पकङे भी गये!
Unlike · 1 · Edit · Thursday at
3:22pm
Write a comment...
Com

No comments:

Post a Comment