Thursday, 8 August 2013

जयहिन्द जयहिन्द की सेना

दुश्मन की ललकार मिटा दे
भुनगों की गुंजार मिटा दो।
तिनकों की दीवार मिटा दे ।
उठा उठा तूफान
बाजुओं में तेरे भूडोल ।

वन्दे मातरम् बोल
वन्दे मातरम् बोल
वन्दे मातरम् बोल
वन्दे मातरम् बोल ।

बोल बोल जयहिन्द -
हिन्द की सेना की जय बोल ।
वन्दे मातरम् बोल ।

उठो तिरंगा झुक ना जाये
उठो ये गंगा रुक ना जाये
उठो कि बच्चे चिंहुँक ना जाये ।
भून भून दो कीट पतिंगे ।
तोपों के मुँह खोल
वन्दे मातरम् बोल
वन्देमातरम् बोल
वन्दे मातरम् बोल
वन्दे मातरम् बोल
वन्दे मातरम् बोल ।
बोल बोल जयहिन्द हिन्द
की सेना की जय बोल ।
©®Sudha Raje
है कश्मीर हमारी क्यारी
काटो जो करते ग़द्दारी।
शौर्य देख ले दुनियाँ सारी।
सीमा पर दुश्मन की लाशें
बिछा बदल भूगोल ।
वन्दे मातरम् बोल
वन्दे मातरम् बोल
वन्दे मातरम् बोल
वन्दे मातरम् बोल

बोल बोल जयहिन्द
हिन्द की सेना की जय बोल ।

जय जवान है देश का नारा
जय विज्ञान किसान हमारा।
हर सीने पर नाम तुम्हारा ।
तीन रंग से लिखा रहेगा।
हर जवान अनमोल
वन्दे मातरम् बोल
वन्दे मातरम् बोल
वन्दे मातरम् बोल
वन्दे मातरम् बोल

बोल बोल जयहिन्द!!!!!!!!!!!!
हिन्द की सेना की जय बोल
वन्दे मातरम् बोल ।

मानचित्र पर सीमा खींचों
चाहे उसे लहू से सींचों ।
नमक चुकाओ आँख न मींचों
मज़हब जात भूल कर
अपनी ताक़त हिम्मत तोल
वन्दे मातरम् बोल
वन्दे मातरम् बोल
वन्दे मातरम् बोल
वन्दे मातरम् बोल

बोल बोल जयहिन्द!!!!!!!!
हिन्द की सेना की जय बोल!!!
Written by Sudha Raje
©®
सुधा राजे
Dta-Bjnr