Monday, 16 December 2013

स्त्री और समाज 15-

Sudha Raje wrote a new note:
Sudha RajeJun 12 ·इन
सरकारी बैलों को क्या पता कि एकहाथ
में चिमटे से रोटियाँ सेंकते भी ।।धङाधङ
डिबिया...
Sudha Raje
Jun 12 ·
इन सरकारी बैलों को क्या पता कि एक
हाथ में चिमटे से रोटियाँ सेंकते भी ।।
धङाधङ डिबिया की रोशनी में
मोबाईल पर टकाटक लिखने
का मज़ा क्या है ।।
भूत लेखक लेकर बैठे सरकारी माल पर
ऐशगाहों में मूड बनाने व्हिस्की चढ़ाकर
परायी पीङा पर लिखते ये आनंदकीट
साहित्य बरगद की जङे काटते कोंपले
तोङते नये कंछो को चबाकर मुटियाते
बेताल हैं ।।
जायज काम????
और इतना पैसा???
Aug 3

No comments:

Post a Comment