Monday, 16 December 2013

स्त्री और समाज -13-

Sudha Raje wrote a new note:
मॉडलिंग बनाम गरीब और आम
नग्नता और स्त्री पर तैनात कैमरे .
Sudha Raje
कामाख्या
और महाकाल???
पूजने वाले
महाकाली
और महादेव पूजने वाले
???
महावीर
और कापालिक
नागा पंथक
???
तेरे देश में एक पत्थर
तोङती मजदूरनी भूख से
बिलखते पुत्र को दूध
पिलाती है तो चुपके से
फोटो लेकर टप्पर में
रहती मेहनतकश माँ
का
मजाक बनाया जा रहा है
क्या किसी ने उस
माँ को बताया कि तेरा शरीर
सारे संसार के मनोरंजन के
वास्ते
दिखाया जा रहा है??????
क्या वो हथौङे से सिर न
फोङ देती???
क्या अपनी खुद
की बीबी बहिन बेटी के
पुत्र पुत्री के दूध पिलाने के
फोटो ऐसे महान्
नारी पूजक बर्दाश्त कर
लेगे
????
Mar
10 ·
इनका देवता देवी युगपुरूष
साधु नग्न!!!!!!
और एक माँ शिशु के
नितांत कुदरती समय
को मजाक बना दिया
ढोंगी लोग
Sudha Raje
एक विदेशी पत्रिका के
कवर पेज पर एक हमेशा नग्न
रहने वाली मॉडल ने
करोङो रूपिया लेकर ये
ही पोज
दिया तो बङा थू थू
किया
हमारे हर तरफ ऐसी दूध
पिलाती नहाती मजदूरी करती औरतें
दिख
जायेंगी जो कभी बेध्यानी में
किंचिंत खुले अधखुले
हो जाती है
लेकिन ये मतलब
नहीं कि लोग फोटो लें
और चुपके से नेट पर दुनियाँ में
फैला दें???

वो बेचारी जानती नहीं कि नेट
क्या है
बोरी टेंट फूस के घर में रहती???
Like · Edit · Mar 10
Sudha Raje
कुछ साल पहले मेरठ
बिजनौर की भागदौङ में
हम अपनी बच्ची को घर
जेठानी के पास छोङकर
जाते परीक्षायें देने तब देर
शाम बच्ची अपने बापू से
जिद करके साथ आ
जाती बस स्टॉप तक दस
किलोमीटर बाईक पर
कटता नहीं वो बिछोङा और
मुझे पीछे सीट पर ही जैसे
तैसे एडजस्ट करते उसे
फीडिग देनी पङती
बच्चों का कोई समय
नहीँ भूख का दावत
हो या मैयत
माँ कहीँ भी भूखे बच्चे
को रोता कैसे छोङ दे!!!!
कोई माँ बने बिना उस
भयानक दर्द को जान
ही नहीँ सकता

देखा हमने किसी बाल चिकित्सालय
या महिला वार्ड में भी जहाँ हर ओर
माँ बच्चे है
कमीने घुसपैठ करते हैं ।
मोबाईल कैमरा
और सङी सोच
Like · 2 · Edit · Mar 30

No comments:

Post a Comment