Sunday, 31 August 2014

सुधा रसोई।

Sudha Raje
उपवास और सेहत के लिये मेवे
वाली गजक पपङी ""
"""""""""""""""""""""""""''""""""""
सामग्री एक पानीदार नारियल
पचास ग्राम पिश्ते
पचास ग्राम अखरोट
पचासग्राम बादाम
पचास ग्राम खसखस दाने
पचास ग्राम चिरौंजी
पचास ग्राम काजू
सौ ग्राम मूँगफली या चिलगोजा ।
सौ ग्राम तिल
पचास ग्राम घी
एक किलो चीनी साफ
एक नीबू या आधा कप दूध
दो तोले इलायची हरी छोटी वाली
सावन भादों में व्रत ही व्रत और एक
रेसिपी उनके लिये जिनको उपवास से
सिरदर्द हो जाता है ।
बारीक बारीक चिप्स की तरह कटे
पानी वाले नारियल के टुकङे कर लें ।
मूँगफली तवे पर खूब बर्ऊन होने तक
भून लें ।
चाहें तो थोङे काजू बादाम पिश्ते
खसखस अखरोट चिलगोजे चिरोंजी
सब बारी बारी से हल्का घी डालकर
भून लें।
और कुरकुरे होने पर उतारकर
स्लाईसर से कतर लें चिप्स की तरह ।
अब चाशनी बनायें । चीनी में दो कप
पानी डालकर पकने दें धीमी आँच पर
।(थोङी केसर भी डाल सकतीं है
पानी में भिगोकर )
आधा नींबू छानकर निचोङें या दूध
डालें आधा कप इससे चाशनी की मैल
बाहर आ जायेगी जो कलछी से निकाल
लें अलग और फेंक दें ।
चाशनी गाढ़ी होने दें
चार तार की चाशनी होने पर सारे
मेवे चाशनी में डाल दें ।
और आधा चम्मच
पिसी इलायची डालकर चलायें ।
घी लगी चिकनी थाली पर
पतला पतला फैला दें और ठंडा होने
रख दें,
कट के निशान लगा दें
टॉफी या बरफी के शेप में ।
ऊपर से क्रश किया नारियल और
मेवा बुरक दें
फ्रिज में रखें ।
व्रत वाले दिन हल्के गुनगुने दूध से
चार पाँच पीस खाकर व्रत शुरू करें
पूरे दिन कमज़ोरी नहीं लगेगी ।
बच्चों के लिये सेहत और स्वाद
वाली ""गजक ""
ये डिब्बे में बंद करके दो चार महीने
तक भी ताजी रहती है।
©®सुधा राजे

--
Sudha Raje
Address- 511/2, Peetambara Aasheesh
Fatehnagar
Sherkot-246747
Bijnor
U.P.
Email- sudha.raje7@gmail.com
Mobile- 9358874117

No comments:

Post a Comment