Friday, 22 July 2016

सुधा राजे का लेख:- "क्या स्त्री प्रतिशोध का सामान है??

दयाशंकर ने माया को वेश्या की तरह करोङों में बहुजनसमाजपार्टी का टिकिट
बेचने वाली कहा ''''''
दयाशंकर
को पार्टी से छह साल के लिए निकाला गया
दया शंकर पर सबने लानत्त भेजी दया शंकर का कैरियर बरबाद हो गया
मायावती
ने जमकर 'संसद में दयाशंकर के परिवार की सब महिलाओं को गालियाँ बकीं 'ये
उनके स्त्रीपन की महिमा है
बसपा के कार्यकर्ताओं ने जुलूस धरना बनाकर
दयाशंकर की बहिन को पेश करो पेश करो के नारे लगाए '
अगर दयाशंकर की बहिन वहीं आकर "पेश "हो जातीं तो क्या करते बहुजन
समाजपार्टी के कार्यकर्ता?????????!
क्यों पेश करो???
बलात्कार करते??
नंगा करते??
जलील करते??
अपमानित करते????


गाली दया शंकर ने दी और माया ने अठहत्तर गुनी करके लौटा भी दीं '''तत्काल ।
फिर
बहिन पेश करो ""कहकर ''क्या मायावती खुश हो रही थीं????
हम सब यूपी की स्त्रियाँ यही जानना चाहते हैं कि
मायावती किस तरह के "जंमलराज "
में यकीन करतीं हैं,,,,,
वही जो यूपी की दलितों की जंगलवासियों की और विविध पंचायतों के वहशियों
की पंचायत में होता आया है?????
कि
एक लङका किसी की लङकी छेङता है तो उस लङकी की बिरादपी वाले उस लङके की
बहिन को ""उठवा ""लेते हैं!!!!!!!
मायावती वादी जो जो भी है सबको बङी अपमान लगा होगा माना
माना कि दयाशंकर ने गंदे शब्द बोले
परंतु
मायावती ने क्या "संसद में स्त्री को शोभा देती भाषा का प्रयोग किया """"
मालूम है भी उस भाषा को सुनने के बाद यूपी री स्त्रियों की क्या
प्रतिक्रिया है?????
इसी पर
बसपाई हुल्लङबाजों को शह दे दे कर "पूरी मीडिया के सामने "
:::दयाशंकर अपनी बहिन को पेश करो ::::
के नारे लगाये गये????
हम सब स्त्री का रोज ऐसा ""जंगली वहशी रुढ़िगत अपमान होता देखते हैं ।
बसपाई
बहुत खुश हो रबे होगे कि "मायावती को दी गयी गाली का बदला ले लिया!!!!!!
नहीं
गफलत में न रहिये
माया को दयाशंकर ने 'वेश्या से तुलना करके वेश्या बनी मजबूरन हर स्त्री
को ही अपमानित किया '
और
पुरुषवादी गालीछाप सोच की ही मानसिकता प्रकट की ।इसके बदले
दयाशंकर को जे ल होती
जुरमाना लगता
डंडे पङते
मुरगा बनाते
या राजनीति से बाहर करके 'दंडित करते सब जायज होता ।
किंतु
दयाशंकर की बहिन बेटी माँ बीबी
भी स्त्री हैं ।
और यही तो दया ने किया कि ""चिढ़ खुन्नस प्रतिशोध में स्त्री को गाली दी ।
परंतु
बसपा के उन सब कार्यकर्ताओं को """कौन दंड देगा???????
सवाल है हर स्त्री का
जिसको सदा से ""पति पिता भाई बेटे की गलती पर """प्रतिशोध के लिये ''"
बेचा
जलाया
छेङा
बलात्कार
यौन शोषण
गाली अपमान
चीरहरण
सम्मान हरण ।औऱ
बहिष्कार लज्जा आदि जैसे बर्बर घिनौने लांछित अपमानित
अपराध झेलने पङते हैं ।
कौन है जो
इस ""निर्दोष स्त्री दयाशंकर की बहिन बेटी माँ पत्नी ""
के
सार्वजिन आपराधिक ।साशय अपमान का बदला ले?????
क्या भारत की पुलिस
संसद
विधान सभा
कानून
संविधान
में दयाशंकर की बहिन को पेश करो '
के नारे लगाने
वाले ""अपमान करताओं पर काररवाही नहीं होगी????
है कोई जो रिपोर्ट दर्ज करे???
फोटो वीडियो
आप सबके सामने हैं
और अगर ""दयाशंकर ""को दंड मिला है
तो क्या
""बहिनजी मायावती दलित ""
जी में दम है कि
"""""नरेन्द्र मोदी अमितशाह की तरह ही
अपने उन सब """गुंडों को पार्टी से ""छह साल के लिये बाहर निकाल फेंके,,,,,
उनको मजबूर करें कि माफी माँगे???
मायावती खुद भी
सारे ""भाजपा नेताओं के नैतिक सरोकार की तरह माफी माँगे!!!!!
अगर नहीं करतीं माया तो सावधान!!!
यूपी की स्त्रियो
सावधान
बसपा
मायावती
उस दल का प्रतिनिधित्व कर रहे हैं जहाँ
ऐसे हुल्लङबाज 'कार्यकर्ता भरे हैं कि ।आईन्दा भी
भविष्य में कभी
तुम्हारे भी बाप भाई पति पुत्र ने किसी '''''बसपाई """
स्त्री को कुछ गलत
कह दिया अपनी "यूपियाई रुढ़ि गत मर्दवादी अभ्यास आदत के कारण
तो
!!!!
बदला बसपाई तुमसे लेगे!!!!!!
सब चीखेगे
नाच नाचकर ।
कि तुम्हारे
बाप की बेटी पेश करे
भाई की बहिन पेश करो
पति की पत्नी पेश करो
???????
पुत्र की माता पेश करो????
!!!!!!
सोचना और खूब सोचना
क्या
तुम चाहती हो कि ।बाहर दिन भर घूमता तुम्हारा पति पिता पुत्र भाई
जब किसी को कुछ जानबूझ कर
कहें
या छेङछाङ
बलात्कार
या गाली जैसा
लङकी भगाने जैसा कोई भी अपराध या "आरोपित अपराध करें
तो
बदला तुमसे
तुम्हारी माँ से
तुम्हारी बेटी से
तुम्हारी बहिन से
तुम्हारी भाभी भतीजी भाँजी से लिया जाये????????
??????
अब देखना है
कि
मायावती सचमुच ""स्त्री हैं और स्त्री का मान समझतीं है तो ""दयाशंकर की
गलती के लिए ''
उनकी बहिन बेटी माँ से माफी माँगती है या नहीं?????
और
बहिन बेटी पेश करो के नारे लगाने वाले अपने
बसपाई "गुंडों को पार्टी से बाहर निकालतीं हैं या नहीं??!!!!
!!????
अगर मायावती में ऐसा नैतिक साहस है तो साबित करें.
और
यूपी की स्त्रियाँ ""माया के साथ हों "
वरना
मायावती
वही जंगलराज कायम करना चाहती है जहाँ एक "बाहुबली माता अपने गुंडे लङकों
को आदेश देती है कि जाओ ',उसने "अमुक की बहिन को छेङा तुम उसकी बहिन उठा
लाओ '''''''''''''''
'"""''''
धिक्कार
सौ
बार धिक्कार
दयाशंकर को ।और
लाखों बार मायावती को
क्योंकि पुरुषो की गंदी जबान दिन भर हम स्त्रियाँ सुनते रहते हैं और लाख
विरोध भी जताया जाता है ।
परंतु
लानत्त जब
एक स्त्री ही स्त्री का अपमान न केवल स्वयं करती है अपितु
अपने गुंडों से भी कराती है
'''हाँ
हर वह व्यक्ति
जो स्त्री को गाली देता है गुंडा अपराधी है
और हर वह स्त्री जो किसी पुरुष के अपराध का प्रतिशोध
उसके परिवार जाति मजहब की "निरदोष स्त्रियों से लेने को अपने "गुंडों को
उकसाती है "
''अमानुषी है 'नास्त्री है ""
स्त्री
द लित स्त्री हो या मुसलिम ईसाई सिख पारसी बहाबी और हिंदू सवर्ण या पिछङी
या वनवासी ',स्त्री का अपमान सदियों से हर तरह से पुरुष करता आ रहा है
"परंतु यह भी सत्य है कि अधिक संख्या अब तक भी उन पुरुषों की है जो
'स्त्री के अपमान के बदले पुरुष की तो भले चाहे गर्दन भी काट डालें परंतु
उसकी बहिन बेटी माँ को नहीं अपमानित करना चाहते,,, दामिनी का रेप करने
वाले के लिए भी जब इक्का दुक्का किसी ने कहा कि ""ऐसा उसकी बहिन के साथ
हो """तब भी हमारी और लगभग हर सहृदय स्त्री पुरुष की यही प्रतिक्रिया थी
कि ""तब तो पुरुष को ही बर्बर होने की छूट मिली "स्त्री न्या "कहाँ ?????
तो हमारा सवाल सीधे सीधे """दलित स्त्री का चेहरा बनी बहिनजी मायावती से
है कि """दयाशंकर की ग्यारह साल की बेटी को पेश करो के नारे लगाने वाले
अधिक बर्बर हैं कि "साठ साल की राजनेता बाहुबली विरोधी मायावती के टिकिट
बेचने की तुलना "वेश्या "से करने वाला दयाशंकर अधिक बर्बर है????? और
मायावती अगर "मुख्यमंत्री भगवान न करे कि बन गयीं तो क्या '''' पुरुषों
के अपराधों का प्रतिशोध उनके घर की मासूम बहिन बेटी माँ से पत्नी भांजी
भतीजी पोती दोहित्री से लिया जायेगा????? मायावती दलित नेत्री बहिनजी
स्त्री होने के हक के साथ जवाब दें??
में तत्व होना ही चाहिये
कि शत्रु की भी बहिन बेटी की मान मर्यादा शील की रक्षा करे '
'
क्या """भाजपा ने समर्थन किया दयाशंकर का????? नहीं न!!!!!!! तो सब
स्त्रियाँ जानने का हक रखती हैं कि क्या """मायावती "बहिन "जी '''''अपने
बसपाई हुल्लङबाजों का """समर्थन करतीं हैं????? यूपी में तो हर तीसरा
पुरुष किसी न किसी की गाली बकता ही है """"दम है तो सबको डंडे मारो जेल
भेजो जुरमाना लो """""किंतु हम निरीह विवश माँ बहिन बहू पत्नी बेटी भतीजी
भांजी ""पोती दोहित्री को ""यही तो बताओ कि हर गली में फिर उस लङके के
विरोधी घात लगाकर बैठें??????? कि चल पेश कर अपनी बहिन बेटी माँ बीबी
भांजी भतीजी???!? क्या माया हुकूमत इसी बर्बर जंगलराज को """लाना चाहती
हैं """"दलित उत्थान के नाम पर?????? तब सब गैर दलित फिर दलित की गाली पर
"उनकी बहिन बेटी खीचने को तैयार रहे क्या????? बेटी बहिन के बलात्कारी को
दंड देने की बजाय उसकी बहिन बेटी का बलात्कार हो????? क्या मायाराज यही
न्याय करने में यकीन रखता है????
क्या """भाजपा ने समर्थन किया दयाशंकर का????? नहीं न!!!!!!! तो सब
स्त्रियाँ जानने का हक रखती हैं कि क्या """मायावती "बहिन "जी '''''अपने
बसपाई हुल्लङबाजों का """समर्थन करतीं हैं????? यूपी में तो हर तीसरा
पुरुष किसी न किसी की गाली बकता ही है """"दम है तो सबको डंडे मारो जेल
भेजो जुरमाना लो """""किंतु हम निरीह विवश माँ बहिन बहू पत्नी बेटी भतीजी
भांजी ""पोती दोहित्री को ""यही तो बताओ कि हर गली में फिर उस लङके के
विरोधी घात लगाकर बैठें??????? कि चल पेश कर अपनी बहिन बेटी माँ बीबी
भांजी भतीजी???!? क्या माया हुकूमत इसी बर्बर जंगलराज को """लाना चाहती
हैं """"दलित उत्थान के नाम पर?????? तब सब गैर दलित फिर दलित की गाली पर
"उनकी बहिन बेटी खीचने को तैयार रहे क्या????? बेटी बहिन के बलात्कारी को
दंड देने की बजाय उसकी बहिन बेटी का बलात्कार हो????? क्या मायाराज यही
न्याय करने में यकीन रखता है?????

दलित स्त्री हो या मुसलिम ईसाई सिख पारसी बहाबी और हिंदू सवर्ण या पिछङी
या वनवासी ',स्त्री का अपमान सदियों से हर तरह से पुरुष करता आ रहा है
"परंतु यह भी सत्य है कि अधिक संख्या अब तक भी उन पुरुषों की है जो
'स्त्री के अपमान के बदले पुरुष की तो भले चाहे गर्दन भी काट डालें परंतु
उसकी बहिन बेटी माँ को नहीं अपमानित करना चाहते,,, दामिनी का रेप करने
वाले के लिए भी जब इक्का दुक्का किसी ने कहा कि ""ऐसा उसकी बहिन के साथ
हो """तब भी हमारी और लगभग हर सहृदय स्त्री पुरुष की यही प्रतिक्रिया थी
कि ""तब तो पुरुष को ही बर्बर होने की छूट मिली "स्त्री न्याय "कहाँ
????? तो हमारा सवाल सीधे सीधे """दलित स्त्री का चेहरा बनी बहिनजी
मायावती से है कि """दयाशंकर की ग्यारह साल की बेटी को पेश करो के नारे
लगाने वाले अधिक बर्बर हैं कि "साठ साल की राजनेता बाहुबली विरोधी
मायावती के टिकिट बेचने की तुलना "वेश्या "से करने वाला दयाशंकर अधिक
बर्बर है????? और मायावती अगर "मुख्यमंत्री भगवान न करे कि बन गयीं तो
क्या '''' पुरुषों के अपराधों का प्रतिशोध उनके घर की मासूम बहिन बेटी
माँ से पत्नी भांजी भतीजी पोती दोहित्री से लिया जायेगा????? मायावती
दलित नेत्री बहिनजी स्त्री होने के हक के साथ जवाब दें??
©®सुधा राजे

No comments:

Post a Comment