Monday, 7 April 2014

संसद जाने को तङपे है

संसद जाने को तङपे है हर """"ला खद्दर
वाला
कौन बिका कितने में कैसे किसके दल
बदला पाला
टिकिट मिला जिस दल से उसके 'भेद "बेच
कर मुँह काला
खुली धङल्ले से घर दफ्तर वोट पटाने
मधुशाला ''''''
©सुधा राज

No comments:

Post a Comment